वशीकरण टोटके

बाबा त्रिलोकीनाथ एवं भारत के प्रसिद्द ज्योतिष एवं तांत्रिकों द्वारा सुझाये गए वशीकरण के आसान टोटके जो अत्यंत ही प्रभावकारी, शक्तिशाली और जल्द परिणाम दिखाते हैं l ध्यान रहे – इन वशीकरण टोटको का प्रयोग गलत नीयत से या भारत के क़ानून के विरुद्ध ना करें l वशीकरण के कुछ प्रयोग अत्यंत गोपनीय और गुहय यह हैं l इन प्रयोगों को कोई भी व्यक्ति जो जानता है बताता नहीं है यह तभी बताया जाता है जब स्त्री या पुरुष उसको प्रसन्न कर लेते हैं l  यह प्रसन्नता श्रद्धा और समर्पण से प्राप्त होती है l  छल, झूठ, कुटिलता के साथ केवल धन व्यय करके इनके बारे में नहीं जाना जा सकता है यद्यपि यहां कुछ ऐसे प्रयोग दे रहे हैं परंतु हम सभी प्रयोग करता से कहना चाहेंगे कि वह स्त्री हो या पुरुष बिना गुरु के निर्देश के इनका प्रयोग ना करें l

स्त्री वशीकरण के चमत्कारी प्रयोग

(स्त्री का वशीकरण करने के लिए टोटके)

पुरुष वशीकरण के चमत्कारी प्रयोग 

(पुरुष का वशीकरण करने के लिए टोटके)

  • चांदी की पायल को २१ दिन तक अपने मूत्र में शीशे या मिटटी के पात्र में डुबोकर रखें l प्रतिदिन प्रातः काल मूत्र बदल लें l इस पायल की राख से साफ़ करके किसी युवती को दे दें l यदि वह इन्हें अपने पैरों में पहन लेती है तो तीन दिनों में आपके लिए सब कुछ भूल जाएगी l
  • दोनों कटेली, आरजू बेल और गौखरू की जड़ सामान मात्रा में लेकर उसमें अपने स्नान में उतरा प्रथम जल चाल गुणा लें l इन्हें मिटटी की थडी में लाल कपडे से धक् कर गाय के कंडे से धीमी आंच पर गर्म करें l जब तक चौथाई जल रहे , तो इसे छान कर बोतल में बंद कर लें l यह एक शोधक औषधि भी है इसमें टीम चम्मच के बराबर यदि किसी युवती की पिला दें, तो ताकतवर वशीकरण होता है l
  • ढाक के बीजों को लाल कपड़े में बांधकर अपने स्नान के जल में डुबोकर 24 घंटे तक रखें इसके बाद इसे पीसकर शहद के साथ मिठाई के साथ किसी भी युवती को खिला दें तो वह वश में हो जाएगी l
  • तुलसी के पौधे की जड़ में केसर गोरोचन आंख की राख अपने बाल के राख एवं लौंग डालें और 21 दिन बाद इसके कोमल पत्तों को चरणामृत या मिठाई के रुप में जिस युवती को खिला दे वह वश में हो जाएगी l
  • चौलाई के बीजों को रात में पान में लपेट कर अपने मुख में रखें प्रातः काल इसे मिट्टी में बों दें l इस चौलाई का साग गाय के घी और चावल के साथ इस अविवाहिता को खिलाएंगे वह वश में होगी l
  • सफ़ेद दूर्वा तथा हरताल को पुष्य नक्षत्र में निमंत्रित करके लायें तथा धुप – दीप दिखाकर, बारीक पीसकर लेप बना लें l इसका तिलक लगाने वाला समस्त जग को मोहित कर लेता है l 
  • तुलसी के बीजों को लेकर सहदेई के रस में पीसकर तिलक करने से जो भी देखता है, वह प्रयोगकर्ता के वश में हो जाता है l 
  • केसर, सिन्दूर, गोरोचन को आवले में पीसकर तिलक लगाने से देखने वाले वशीभूत होते हैं l 
  • अपामार्ग, धान की खोल तथा सहदेई इन सबको पीसकर उसका तिलक करने से मनुष्य तीनो लोकों को वाशिक्भूत कर लेता है l 
  • कपूर तथा मैनसिल लेकर केले के रस में पीसकर मंत्रभिसिक्त करके तिलक लगाने से साधक को जो भी देखता है, वह वशीभूत हो जाता है l 
  • काकरा सिंगी, चन्दन, वाच कूट सबको मिलकर कूट लें फिर उसे अपने शारीर तथा अपने वस्त्र पर रखकर विशेष रूप से धुप लगायें तथा मुलहठी पीसकर उसका तिलक लगायें l इसके प्रयोग से नर – नारी, राजा, पशु-पक्षी सभी वश में होते हैं l 
  • श्रवण नक्षत्र में आंवले की जड़ नागर बेल के रस में पियें तो स्त्री नवयौवना होती है l
  • मैन्सील, सिंग्रव, गोरोचन को भृंगराज के रस में घिसकर बायें हाथ या जिसको वश में करना चाहें, उसका नाम लिखें फिर अग्नि में तपाने पर वह स्त्री वशीभूत हो जाती है l
  • शंखपुष्पी की जड़ को शीतल जल में पीसकर सोलह माशा के प्रमाण में जो स्त्री सात दिन पीती है और आठवें दिन पति के साथ संगम करनी है वह गर्भवती हो जाती है l
  • युवती के बाल प्राप्त करें और काली मंत्र का 108 बार जाप करते हुए उसे अपने बालों के साथ जला दें l
  • युवती के बाल प्राप्त करें और उसे गधे की लीद के साथ मिटटी में दबाकर प्रतिदिन प्रातः काल उस पर मूत्रत्याग करें l
  • युवती के घर के कुत्ते को अपने मूत्र से सने आते की रोटी बनाकर 21 दिनों तक खिलाएं l
  • जिस स्त्री को वश में करना हो उसका नाम कमल के पत्र पर गोरोचल से शनिवार के लिखें, फिर उसी को तिलक करने से वह स्त्री वश में हो जाती है
  • खास, चन्दन इसमें शहद मिलाकर तिलक करें और स्त्री के गले, बांह में बांह डालकर वश में करें तो स्त्री वश में हो जाएगी l
  • सरसों तथा देवदारु को एकत्र कर उन्हें बारीक पीस लें, फिर उसमें शहद मिलाकर होलियाँ बना लेंl यह काने में आनंदकर होती है l इसे मुंह में रखकर जिस नाली से बात करते हैं, वह वश में हो जाती है l
  • गोरोचन तथा नील कमल की जड़ ताम्र पत्र में पीसकर सदा अपनी आँख में काजल की तरह इस्तेमाल करते रहने से उसका पति हमेशा ही उसका बना रहता है l पराई औरतों की तरफ आँख भी नहीं उठाता l
  • बादाम का पंचांग तथा सफ़ेद घुंघची को एक साथ पीसकर मस्तक पर तिलक करने से देखने वाले सभी स्त्री पुरुष मोहित हो जाते हैं l
  • रविवार के दिन तुलसी के बीजों को सहदेई के रस में पीसकर तिलक करने से स्त्री देखते ही मोहित हो जाती है l
  • पान के रस में तालमखाना और मैनसिल को पीसकर मंगलवार को लगायें तो स्त्री शीघ्र वशीभूत हो जाती है l
  • कमल पत्र पर गोरोचन से साध्य स्त्री का नाम लिखें और फिर गोरोचन का तिलक शनिवार को करें तो वश स्त्री निश्चित रूप से वश में हो जाती है l
  • काकजंघा, केसर तथा मैनसिल को सिद्ध योग में जिस स्त्री के सर पर डाला जाता है, वह प्रयोगकर्ता के वश में हो जाती है l
  • पुष्य नक्षत्र में धोबी के पाँव की मिटटी लाकर रविवार के दिन संध के समय थोड़ी सी स्त्री के मस्तक पर डालें तो वश वशीभूत हो जाएगी l
  • आदर नक्षत्र में तालाब के पास जाकर एक ही दुबकी में नीचे से मिटटी ले आयें, उस मिटटी को जिस औरत के मस्तक पर डालें वह वशीभूत हो जाएगी l
  • युवती के बाल प्राप्त करें और काली मंत्र का 108 बार जाप करते हुए उसे अपने बालों के साथ जला दें l
  • युवती के बाल प्राप्त करें और उसे गधे की लीद के साथ मिटटी में दबाकर प्रतिदिन प्रातः काल उस पर मूत्रत्याग करें l
  • युवती के घर के कुत्ते को अपने मूत्र से सने आते की रोटी बनाकर 21 दिनों तक खिलाएं l
  • जिस स्त्री को वश में करना हो उसका नाम कमल के पत्र पर गोरोचल से शनिवार के लिखें, फिर उसी को तिलक करने से वह स्त्री वश में हो जाती है
  • खास, चन्दन इसमें शहद मिलाकर तिलक करें और स्त्री के गले, बांह में बांह डालकर वश में करें तो स्त्री वश में हो जाएगी l
  • सरसों तथा देवदारु को एकत्र कर उन्हें बारीक पीस लें, फिर उसमें शहद मिलाकर होलियाँ बना लेंl यह काने में आनंदकर होती है l इसे मुंह में रखकर जिस नाली से बात करते हैं, वह वश में हो जाती है l
  • गोरोचन तथा नील कमल की जड़ ताम्र पत्र में पीसकर सदा अपनी आँख में काजल की तरह इस्तेमाल करते रहने से उसका पति हमेशा ही उसका बना रहता है l पराई औरतों की तरफ आँख भी नहीं उठाता l
  • बादाम का पंचांग तथा सफ़ेद घुंघची को एक साथ पीसकर मस्तक पर तिलक करने से देखने वाले सभी स्त्री पुरुष मोहित हो जाते हैं l
  • रविवार के दिन तुलसी के बीजों को सहदेई के रस में पीसकर तिलक करने से स्त्री देखते ही मोहित हो जाती है l
  • पान के रस में तालमखाना और मैनसिल को पीसकर मंगलवार को लगायें तो स्त्री शीघ्र वशीभूत हो जाती है l
  • कमल पत्र पर गोरोचन से साध्य स्त्री का नाम लिखें और फिर गोरोचन का तिलक शनिवार को करें तो वश स्त्री निश्चित रूप से वश में हो जाती है l
  • काकजंघा, केसर तथा मैनसिल को सिद्ध योग में जिस स्त्री के सर पर डाला जाता है, वह प्रयोगकर्ता के वश में हो जाती है l
  • पुष्य नक्षत्र में धोबी के पाँव की मिटटी लाकर रविवार के दिन संध के समय थोड़ी सी स्त्री के मस्तक पर डालें तो वश वशीभूत हो जाएगी l
  • आदर नक्षत्र में तालाब के पास जाकर एक ही दुबकी में नीचे से मिटटी ले आयें, उस मिटटी को जिस औरत के मस्तक पर डालें वह वशीभूत हो जाएगी l
  • शतावरी, गोरोचन, गेरू, पदम् केसर का मिश्रण करके घोल तैयार करने के पश्चात पुष्य नक्षत्र में काजल करने से प्रेमी तथा पति दोनों वश में बने रहते हैं l
  • गोरोचन और ताड़ के बीजों को किसी भी वशीकरण मंत्र से अभिमंत्रिक करके जिसके भी सर पर डाला जायेगा वह वश में हो जायेगा l
  • तिरिछ्की इ जड़, नील कमल की जड़ पीसकर ॐ पिंडलाय नमः का ११०१ जाप से अभिमंत्रिक करके अपने प्रेमी को पान के साथ खिलाने पर वह सदा के लिए उसका बन जायेगा l
  • वह औरत जिसे यह लग रहा हो की उसका पति उसमें कम दिलचस्पी ले रहा है l अर्थात किसी दुसरे स्त्री की तरफ आकर्षित हो रहा है तब उस औरत को चाहिए की वह चीते के फल को शहद के साथ मिलाकर अन्न व् पान के माध्यम से अपने पति को खिलाएंगे l ऐसा करने पर उसका पति पराई औरत का मोह भंग करके सदा के लिए उसका बन जायेगा l
  • जब कोई स्त्री अपने प्रेमी को वश में करना छह रही हो तो मछली के पित्त और गोरोचन को पीसकर उसका तिलक उस पुरुष को लगायें l वह दीवाना बन जायेगा तथा सदा के लिए औरत को अपना बना लेगा l इसका तिलक वह औरत भी अपने पति को कर सकती है जो की अपने पति को अपना दास बनाना चाहती हो l
  • पुष्य नक्षत्र की अँधेरी रात्री में संध्या के समय दीपक जलाकर उसकी लौ से काजल बनाये l उस काजल में मोर की बीत, हरताल और सुहागा मिलाकर जिसके मस्तक पर दाल दिया जाये, वह वशीभूत हो जायेगा l
  • अपने दोनों हाथो व् दोनों पैरों के समस्त नाखुनो को जलाकर किसी को भी उस बस्म को खिला दें l बस्म खाते ही वह आपके वश में हो जायेगा l
  • बादाम का पंचांग तथा सफ़ेद घुन्ग्ची को एक साथ पीसकर मस्तक पर तिलक करने से देखने वाले सभी स्त्री पुरुष मोहित हो जाते हैं l

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

-: अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें  :-

बाबा त्रिलोकीनाथ जी (बगलामुखी साधक ज्योतिषी)

संपर्क संख्या - 09643933763 (भारत से), +91-9643933763 (भारत के बाहर से)

आप बाबा जी से Whatsapp पर भी संपर्क कर सकते हैं 

-:  For Consultation, Contact Baba Trilokinath Ji  :-

Baba Trilokinath Ji (Baglamukhi Sadhak Astrologer and Vashikaran Specialist)

Contact by call or Whatsapp on : +91-9643933763