पान वशीकरण

पान के पांच पत्तो को लें।  पत्ते सुंदर और बिना छेद या बिना कटे फ़टे होने चाहिए। इन पत्तो को भूमि पर बिछाकर इनके बीच में दीपक जलाएं और पान के पत्तों पर तुलसी का एक – एक पत्ता रखें।
इसके सामने सुखासन में बैठकर दीपक की लौ पर ध्यान लगाकर मोहिनी रुपी देवी त्रिपुर सुंदरी के मन्त्र का जाप करें।
मन्त्र –
ॐ नमः देवी त्रिपुरा ……….  वशम कुशम् कुरु कुरु स्वाहा।

इस मन्त्र का जाप ११८८ बार प्रतिदिन २१ दिन तक करें। इस जाप के पूर्ण हो जाने के बाद धुप दीपक दिखाकर पान के पत्तो को तुलसी के पत्तों सहित उठकर रख लें।
तुलसी के पत्तों या पान को वांछित कामिनी को खिला देंगे , तो वह पूर्णतया आपके वश में हो जाएगी।

This entry was posted in वशीकरण and tagged , , , , . Bookmark the permalink.